राजपुर प्रखंड कार्यालय की बिजली गुल तो काम बंद,नहीं है कोई वैकल्पिक व्यवस्था | - Jansagar News - Hindi News Portal of Rohtas & Kaimur, Sasaram News,सासाराम न्यूज ,भभुआ न्यूज़

Jansagar News - Hindi News Portal of Rohtas & Kaimur, Sasaram News,सासाराम न्यूज ,भभुआ न्यूज़

Single and Trusted News Portal of Rohtas & Kaimur

Breaking

Home Top Ad

Post Top Ad

Thursday, September 8, 2022

राजपुर प्रखंड कार्यालय की बिजली गुल तो काम बंद,नहीं है कोई वैकल्पिक व्यवस्था |

राजपुर प्रखंड कार्यालय की बिजली गुल तो काम बंद,नहीं है कोई वैकल्पिक व्यवस्था | Rajpur Rohtas Bihar |



रोहतास जिले के राजपुर प्रखंड कार्यालय परिसर के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के कार्यक्षेत्र से जुडे किसी भी कार्यालय में अल्टरनेट बिजली आपूर्ति की वयवस्था उपलब्ध नहीं है। जिसके वजह से यदा कदा बिजली की आपूर्ति बाधित होने पर कार्यालयों में लगे कम्प्यूटर समेत अन्य सभी मशिनें बन्द हो जाती है जीससे आम जनता का कार्य पूर्ण रूप से तब तक बन्द हो जाता है जबतक वापस बिजली आपूर्ती शुरू नही हो जाता। हालांकी गर्मी के मौसम के कारण कर्मियों को भी परेशानी का सामना कपना पडता है।

 


ईसकी पुष्टी खुद प्रखंड कार्यालय के कर्मियों ने ही किया, उन्होने बताया कि बिजली रहता है,तो काम होता है,नहीं रहने पर काम पुरी तरह ठप हो जाता है।  प्रखण्ड कर्मियों ने बताया की विगत कुछ दिनों से बिजली की आपूर्ति ऐसी हो रही है जैसे बिजली विभाग वाले आंख-मिचौली का खेल खेल रहे है।नियमित रूप से बिजलि हर आधे घंटे पर आता-जाता रहता है। हालांकी बिहार सरकार के द्वारा काफी संख्या में कार्यालय भवन के ऊपरी छत पर सोलर प्लेट लगाया गया है उसके बावजूद भी बिजली आपूर्ति पुरी नही हो पाती है और लाईट कटते ही सभी मशीनें बंद हो जाती हैं,जिससे आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पडता है।



 



प्रखंड कार्यालय में तैनात विद्युत आपूर्ति हेतु लगे संयंत्र के कनीय अभियंता राजेश कुमार ने बताया कि राजपुर प्रखंड कार्यालय में सस्ते दरों में बिजली आपूर्ति के लिये सरकार द्वारा ऑन ग्रिड सोलर पावर प्लांट की स्थापना हुई है लेकिन सोलर प्लेट से उत्सर्जित विद्युत सिधे पावर ग्रिड को सप्लाई होता है जिसके बदले में पावर ग्रिड प्रखण्ड कार्यालय को सस्ते दर में बिजली आपूर्ति करता है। लेकिन उक्त सोलर प्लेट मशीन को बैटरी से जोडने का फिलहाल कोई सिस्टम नहीं है जिससे जरुरत पडने पर प्रखण्ड कार्यालय को लाभ मिल सके ।

Rajnikant Tiwari-Journalist

Post Bottom Ad